सुंदरता प्रेमी और आत्मविशवासी होते है भाग्यांक 6 के जातक

sundarta premi or aatmvishavasi hote hai bhagyank 6 ke jatak

भाग्यांक 6 के जातक बहुत तीव्र बुद्धि, आत्मविषवासी और अच्छे विचारो वाले होते है।  भाग्यांक 6 वाले संरक्षक और देखभाल करने वाले व्यक्ति होते हैं. यह अन्य लोगों की सहायता व मदद करने के लिए तत्पर रहते हैं तथा इन्हें लोगों की सहायता करना ज्यादा अच्छा लगता है।

भाग्यांक 6- इन जातकों का जीवन शुक्र ग्रह से प्रभावित रहता है। शुक्र ग्रह सौन्दर्य का प्रतीक माना जाता है। आपमें एक विशेष प्रकार की आकर्षण शक्ति होती है , जिसके कारण लोग आपसे जल्दी प्रभावित हो जाते है।

आप कोई भी कार्य समय से करने में विश्वास रखते है इसलिए आपको आलसी लोग पसन्द नहीं आते है। आपको कुरूपता पसन्द नहीं है इसलिए आप कुरूप लोगों से ज्यादा नजदीकियां नहीं बढ़ाते है। भाग्यांक 6 वाले लोगों में निरीक्षण शक्ति अच्छी होती है यह लोग अपने उत्तरदायित्व को पूर्ण रूप से निभाने का प्रयास करते हैं।  इन्हें जीवन में अनेक सफलताएँ भी प्राप्त होती हैं। भाग्यांक छ वालों में वाक चातुर्य का समावेश होता है अपने इस गुण के कारण यह लोगों के मध्य काफी प्रसिद्धि पाते है. इनकी बातें लोगों के मन में लंबे समय तक रहती हैं. आप किसी पर भी बहुत जल्दी विशवास कर लेते है जो की आगे  जाकर आपके लिए परेशानी का कारन बन जाता है। भाग्यांक 6 वाले खर्चीले भी खूब होते हैं इस कारण धन संग्रह करने में इन्हें कठिनाई हो सकती है जो परेशानी का सबब बन सकती है अत: अपने इस अपव्ययी व्यवहार पर नियंत्रण करने का प्रयास करें. आपको किसी बात अथवा सिद्धांत का विरोध करने से बचना चाहिए अन्यथा अपने लक्ष्य ये भटक सकते है. अपने उतावलेपन और हस्तक्षेप करने की आदत का त्याग करें.

यदि आप अपना करियर बनाना कहते है परिवहन विभाग, पर्यटन विभाग, रेसलिंग, टीवी शो, थियेटर, उद्यान विभाग, समाज कल्याण,  आदि में आप-अपना करियर बना सकतें है। और यदि आप खुद का व्यवसय करने के  इक्छुक है तो रेस्टोरेन्ट, शिल्प कार्य, साहित्य, वस्त्रों का व्यापार, हीरे का बिजनेस, सौन्दर्य प्रसाधनों का कार्य, सफेद वस्तुओं का कार्य, खनिज कार्य, पेन्टिंग, निर्माण कार्य, आदि से सम्बन्धित व्यवसाय कर सकते है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *