संघर्शमय होता है भाग्यांक 8 के जातको का जीवन

sangharshmay hota hai bhgyank 8 ke jatko kaa jivan

भाग्यांक 8 (Bhagyank 8)

अंक ज्योतिषी के अनुसार हर भाग्यांक के जातको की अपनी अलग विशेषता होती है और इन्ही विशेषताओ के ऊपर इनका पूरा जीवन आधारित रहता है  तो आइये आज जानते है भाग्यांक 8 के जातको की कुछ विशेषतायें

1. भाग्यांक 8 के जातको को विश्वास का अंक कहा जाता है। अंक ज्योतिषी के अनुसार भाग्यांक 8 के स्वामी शनि है।

2.ये  अपने मित्रों और सहयोगियों की यथा शक्ति सहायता करते हैं कभी भी मुसीबत में उन्हें अकेला नहीं छोड़ते है ।

3. इस अंक के लोग अकेलेपन के शिकार होते हैं क्योंकि इन्हे समझना काफी मुश्किल काम होता है।

4. आप किसी भी कार्य को बड़ी लगन से करते है परन्तु जैसे ही सफलता आपको मिल जाती है, वैसे ही आपका कार्यो के प्रति रूझान कम पड़ जाता है।

5. आप निर्भय, स्पष्टवादी व लग्नशील होते है इसलिए आप-अपनी इच्छा पूरी करने के लिए बड़े से बड़ा त्याग भी करने को तैयार हो जाते है।

6. भाग्यांक 8 वालों में दिखावा नहीं होता यह लोग वास्तविकता पर विश्वास करते हैं और अपनी भावनाओं को अपने भीतर छुपाए रखते हैं।

7. भाग्यांक आठ वाले जातक वास्तविकता को इतना परखते हैं कि इनके लिए जीवन कर्तव्य पालन मात्र हो जाता है।

8. भाग्यांक 8 का जीवन संघर्ष से भरा रहता है अपने साहस और परिश्रम द्वारा यह अनेक उच्चाईयों को छूते हैं तथा ख़तरों को साहस द्वारा समाप्त करने का प्रयास करते हैं।

9. भाग्यांक 8 वाले लोग जिम्मेदार तथा गंभीर विचारों के स्वामी होते हैं. यदि यह किसी कि ज़िम्मेदारी अपने उपर लेते हैं तो उसे पूरा करने का प्रयास करते हैं।

10. भाग्यांक 8 वाले कम बोलने में विश्वास करते हैं .राजनीति, सामाजिक कार्य, शिक्षण जैसे कई अन्य क्षेत्रों में आप अपने भाग्य को चमका सकते है।

नोट (सावधानियां) :  जरूरत से ज्यादा किसी पर विश्वास करना आपके लिए घातक साबित  हो सकता है अतः किसी पर भी ज्यादा विश्वास ना करे।  आपके जीवन में काफी उतार-चढ़ाव आयेंगे परन्तु आप धैर्य न खोंये डट कर मुसीबत  का सामना करे आप जरूर सफलता प्राप्त करेंगे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *