घर के मंदिर में ये कुछ बाते ध्यान रखने से दरिद्रता दूर  हो जाती है

ghar ke mandir me ye baate dhyan rkhne se daridrta dur ho jaati hai

जेसे हम हमारे रहने के लिए घर बनाते  है वैसे ही हिन्दू घरो में देवी देवियो के के लिए एक अलग स्थान होता है।किसी घर में मंदिर छोटे होते है तो कही बड़े जैसे जिसके श्रद्धा।  पर हर घर में मंदिर जरूर होता है। कहते है जिस घर में रोज भगवान की पूजा होती है उस घर में देवी- देवता खुद साक्षात निवास करते  है  और उनकी कृपा सदेव घर परिवार पर बनी रहती है।  पर क्या आप लोगो को पता है की बहुत बार ऐसा होता है की घर में भगवान का मंदिर होने के बाद भी घर में बहुत परेशानिया आती है और बहुत दिकत्ते होती है। क्या आपको पता है इसके पीछे क्या कारन है, कारन होता है  तरीके से पूजा का ना हो पाना

तो आइये आपको बताते है कुछ ऐसे बाते जिसके करने से आपकी सारे परेशानिया ख़त्म हो जाएगी

1. घर में पूजा करने वाले व्यक्ति का मुंह पश्चिम दिशा की ओर होगा तो बहुत शुभ रहता है। इसके लिए पूजा स्थल का द्वार पूर्व की ओर होना चाहिए।

2. घर के मंदिर में ज्यादा बड़ी मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए।  घर के छोटे मंदिर के छोटे-छोटे आकार की प्रतिमाएं श्रेष्ठ मानी गई हैं।

3. घर में मंदिर ऐसे स्थान पर बनाया जाना चाहिए, जहां दिनभर में कभी भी कुछ देर के लिए सूर्य की रोशनी अवश्य पहुंचती हो।

4. पूजा में बासी फूल, पत्ते अर्पित नहीं करना चाहिए। स्वच्छ और ताजे जल का ही उपयोग करें। पर ये भी ध्यान रखे कि तुलसी के पत्ते और गंगाजल कभी बासी नहीं माने जाते हैं। अत: इनका उपयोग कभी भी किया जा सकता है।

5. घर में जिस स्थान पर मंदिर है, वहां चमड़े से बनी चीजें, जूते-चप्पल नहीं ले जाना चाहिए।

6. मंदिर में मृतकों और पूर्वजों के चित्र भी नहीं लगाना चाहिए। पूर्वजों के चित्र लगाने के लिए दक्षिण दिशा क्षेत्र रहती है।

7. घर के मंदिर के आसपास शौचालय होना भी अशुभ रहता है। अत: ऐसे स्थान पर पूजन कक्ष बनाएं, जहां आसपास शौचालय न हो।

8. रोज रात को सोने से पहले मंदिर को पर्दे से ढंक देना चाहिए। जिस प्रकार हम सोते समय किसी प्रकार का व्यवधान पसंद नहीं करते हैं, ठीक उसी भाव से मंदिर पर पर्दा ढंक देना चाहिए।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *