hastrekha-samudrashastra

आपकी आँखे भी बयान करती है आपका व्यक्तित्व आइये जानते है कैसे

-+*अगर कुछ पढ़ना ही है तो आँखों को पढ़ना सिख लो || वरना लफ्ज़ो के मतलब तो हज़ारो निकलते है । जी हां बिलकुल सही है ये पंक्तिया । आंखें एक व्यक्ति के चरित्र के बारे में सबकुछ बता देती हैं, ऐसा सिर्फ कहा नहीं जाता बल्कि यह हकीकत है, आप किसी की आंखों का रंग देखकर उसके स्‍वभाव के […]

स्त्री पुरुष के इस भाग पर तिल प्रेम का प्रतीक

-+*समुद्रशास्त्र के अनुसार ना सिर्फ हाथ और माथे की रेखाएं अपितु शरीर के कई निशान और तिल-मस्से भी मनुष्य के व्यवहार के बारें में कई रहस्य उजागर करते है । जैसे माथे पर तिल का होना मनुष्य को भाग्यवान बनाता है तो वहीं होंठों पर तिल अधिक कामुकता को दर्शाता है आदि । पौराणिक समुद्र शास्त्र के अनुसार स्त्री के […]

अगर ये अंग फड़का तो आपकी लवलाइफ में लगेगा तड़का

-+*भविष्य में होने वाली सभी घटनाएं पूरी तरह से अप्रत्याशित हैं, कोई नहीं जानता है कि अगले ही पल क्या होने वाला है? इसी वजह से सभी के लिए भविष्य जिज्ञासा का विषय है, सभी जानना चाहते हैं कि उनका आने वाला कल कैसा होगा? सुख मिलेगा या दुख? ऐसे ही प्रश्नों के उत्तर ज्योतिष शास्त्र से प्राप्त किया जा […]

हस्तरेखा बताए क्यों टूटते हैं दिल

-+*दिल का मामला बड़ा ही नाजुक होता है जरा सी आंच लगी नहीं कि यह तार तार होकर बिखर जाता है और जुदा हो जाते हैं दो दिल। दिल टूट जाने के बाद आप किसी को भी दोष दें लेकिन हस्त रेखा विज्ञान कहता है अगर ऐसा होता है तो यह आपकी हाथ की रेखाओ में लिखा है। तो देखिये […]

Hasta Samudrika Shastra and Jyotish in Astrology

-+*Jyotish Jyotish is that the ancient science of Hinduism. Quite 5000 years recent, Jyotish could be a powerful tool for gaining profound information concerning each facet of life. All and sundry is born with a novel set of psychological tendencies and life potentials. The horoscope shows what we tend to are presently operating with, supported our past actions and thoughts. […]

Line Decides Our Nature and Future, Whether It Is On Forehead or On Palm

-+*In human beings, every person has curiosity to know about their future. Lines on palm and lines on forehead have their own specialty in Ocean science or Vedic science. Prediction of happy and sorrow moments can be possible in present time through palmistry and samudrik scripture. The way to describe the future and nature in palmistry by observing the lines […]