भाग्यांक  7  के जातको को माना जाता है रहस्यमयी

bhagyank 7 ke jatako ko mana jata hai rahasymai

 

भाग्यांक 7 (Bhagyank 7)

क्या आपका भी भाग्यांक  7 है। या किसी  दोस्त या  पारिवारिक सदस्य का भाग्यांक 7 है तो आज का यह ब्लॉग आप लोगो के लिए ही है आइये देखते है क्या क्या विशेषताए होती  है भाग्यांक 7 के जातको में.

 

भाग्यांक 7 की विशेषताए (Behaviors and Qualities of Bhagyank 7)

 

* केतु ग्रह को भाग्यांक 7 का स्वामी माना जाता है।

* इस अंक को रहस्यात्मक अंक भी कहा जाता है. इसलिए इस अंक के जातक बहुत से रहस्यों को अपने अंदर लिए होते है।

* भाग्यांक 7 वालों में निर्णय लेने की अच्छी समझ होती है। और  भाग्यांक सात  के लोग उसी कार्य को करने का प्रयास करते है जो उनके लिए लाभकारी और हितकारी होता है।

* जीवने के प्रति इनका अपना नज़रिया होता है. धर्म संबंधी मामलों में में इन्हें आडंबर पसंद नहीं है यह धर्म को लाग लपेट से दूर रखते हैं।

* भाग्यांक 7 वालों का स्वभाव अलग तो होता है और इन्हे अपने कार्य में दूसरों का हस्तक्षेप पसंद नही आता अपनी इच्छा के विपरीत किसी अन्य की राय इन्हें पसंद नही होती।

* भाग्यांक 7 वाले अधिक घुलना मिलना पसंद नही करते यह लोग ज्यादा दोस्त नहीं बनाते और जल्दी से किसी के साथ घुलते मिलते नही।

* भाग्यांक 7 जल्द ही किसी पर विश्वास नही करते। हर काम ये खुद से करना पसंद करते है।

* बागवानी का कार्य, कृषि कार्य, तरल पदार्थो का व्यापार, आयुर्वेदिक दवाओं का व्यापार आदि से सम्बन्धित व्यवसाय भगयनक ७ वालो के लिए लाभप्रद साबित होता है ।

* ये अंक स्वतंत्र पूर्वक आर्थिक व सामाजिक रूप से खुद पर निर्भर रहने की शिक्षा प्रदान करता है। शांत व सहजता का प्रतीक अंक 7 कभी-कभी बहुत उग्र भी हो जाते हैं।

 

भाग्यांक 7 के लिए सावधानी (Negative Characteristics of Bhagyank 7)

भाग्यांक 7 के जातक बहुत संकोची होते हैं, इसलिए किसी पर विश्वास नहीं करते। अंकशास्त्री मानते हैं कि इन्हें लोगों पर विश्वास करना सीखना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *