आत्म निर्भर होते है भाग्यांक 5 के जातक

aatmnirbhar hote hai bhagyaank 5 ke jatak

भाग्यांक 5 (Bhagyank 5)

भाग्यांक 5 के जातक की आराध्य माँ लक्ष्मी है। भाग्यांक 5 वाले व्यक्ति अपने हर कार्य में निपुण होते है साथ ही परिवर्तनशीलता को पसंद करने वाले होते है। ये जातक स्वतंत्रता के बारें में विशेष रूचि रखते है। आप समाजिक व आर्थिक रूप से अपने उपर ही निर्भर रहेंगे। आपके जीवन में एक बात दिखाई देगी, यदि कोई परम्परा आप पर हावी होगी तो उसे तोड़ने में आप देरी नहीं करेंगे।

भाग्यांक 5 की विशेषताएं (Behaviors and Qualities of Bhagyank 5)

भाग्यांक 5 के जातक आत्म निर्भर, स्वतंत्रता पसंद, रोमांचकारी प्रवृति के स्वामी होते है है। ये किसी भी प्रकार के बंधन को पसंद नहीं करते। ये स्वाभाव से सरल, सेवा भावी और स्वामी भक्त होते है। ये एक साथ अनेक प्रकार के कार्य में निपुणता हासिल करने की प्रवृति रखते है। जो की इनके अस्तित्व के लिए आवश्यक है। भाग्यांक 5 वाले व्यक्ति जल्द ही व्याकुल व अधीर हो जाते हैं। किसी भी काम में अधिक समय तक लगे रहना इन्हें पसंद नहीं आता अपने इसी स्वभाव के कारण यह अपने व्यवसाय, नौकरी, स्थान इत्यादि में परिवर्तन करते रहते हैं।

भाग्यांक पांच वालों को यात्रा करना पसंद होता है ओर अपनी इन यात्राओं से इन्हें लाभ भी प्राप्त होता है। आपका मन घूमने-फिरने में ज्यादा लगता है। भाग्यांक 5 अपने मित्रों से बहुत प्रेम करेंगे तथा अपनी मधुर वाणी से सबको मोह लेते हैं।

भाग्यांक 5 के लिए सावधानियां (Negative Characteristics of Bhagyank 5)

भाग्यांक 5 वालों में कुछ कमियाँ भी देखी जा सकती है, इन्हें कुछ सावधानी बरतने की आवश्यकता है भाग्यांक 5 वाले अपने विचारों एवं कार्यों में जल्द परिवर्तन के इच्छुक होते हैं ये किसी भी कार्य में अधिक समय तक टिक नही पाते। अपनी योग्य बुद्धि को उचित कार्यों में लगाने का प्रयास करें जो भविष्य में लाभकारी प्रतीत होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *