जानिए नेचुरल दर्दनिवारक दवा के बारे में

Learn about natural painkiller

जैतून- जैतून में दर्द और सूजन से रहत देने वाला आइब्रुफेन जैसा प्राकृतिक रसायन पाया जाता है ।

इसमें एक और सक्रिय अवयव ओलियोकेंथल होता है जो शरीर में आईब्रूफेन और अन्य सूजन-नाशक दवा की तरह जैव रासायनिक क्रियाओं को सक्रिय करता है।

५० ग्राम जैतून का तेल आइब्रुफेन की खुराक के १० प्रतिशत के बराबर होता है ।

खट्ठी चेरी- शोधकर्ताओं के अनुसार २० खट्ठी चेरी दर्दनिवारक का काम करती है । यह एस्पिरिन से भी कारगर है । इसमें एंथोसायनिंस नामक रसायन होता है ।

यह विटामिन-ई के तरह एंटी-ऑक्सीडेंट जैसा व्यवहार दर्शाती है ।

रोज चेरी के सेवन से सूजन ,थक्का जमना ,गठिया के कारन होने वाला दर्द कम हो जाता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *